1971 की जंग में जब इंडियन नेवी की मिसाइल बोट्स ने कराची हार्बर पर अटैक किया तो पाकिस्तान का हौसला पस्त हो गया। भारत की मिसाइल बोट्स ने पाकिस्तान के बैटल डिस्ट्रॉयर के साथ ही एक ऑयल टैंक, माइन स्वीपर और एक जहाज शाहजहां को ध्वस्त कर दिया। इसके बाद मिसाइल बोट्स ने कहा - अंगार। क्या था अंगार और कैसे पूरा हुआ यह मिशन कराची? हमारी सहयोगी पूनम पाण्डे ने बात की इंडियन नेवी से रिटायर्ड कोमोडोर आईजे शर्मा से, जो उस वक़्त नेवी में लेफ्टिनेंट कमांडर थे और उस मिसाइल बोट में कमांडिंग ऑफिसर थे, जिसने इस अटैक में हिस्सा लिया (इस पॉडकास्ट का मक़सद किसी व्यक्ति, समूह और विचारधारा को ठेस पहुंचाना नहीं है)

यह भी सुनें : ढाई मिनट में ढेर हो गया पाकिस्तान

भारत और पाकिस्तान के बीच 49 साल पहले हुई जंग में इंडियन नेवी ने भी अहम भूमिका निभाई थी। नौसेना ने पाकिस्तान के अहम कराची पोर्ट पर हमला बोलकर उसे समुद्र में बिल्कुल पंगु बना दिया। उस मिशन के बारे में बता रहे हैं इंडियन नेवी से रिटायर्ड कोमोडोर आईजे शर्मा। वह तब नेवी में लेफ्टिनेंट कमांडर थे और उस मिसाइल बोट में कमांडिंग ऑफिसर थे। उनसे बात की है हमारी सहयोगी पूनम पाण्डे ने। आप भी सुनने के लिए प्ले बटन पर क्लिक करें (इस पॉडकास्ट का मक़सद किसी व्यक्ति, समूह और विचारधारा को ठेस पहुंचाना नहीं है)

आलेख रेट करें

आज ही न्यूजलेटर और नोटिफिकेशंस को सब्सक्राइब करें

हिन्दी हैं हम! भारत की दुनिया, दुनिया में भारत

Copyright @2022 BCCL. All Rights Reserved